अगर उड़ते विमान में किसी बच्चे का जन्म होता है तो उस बच्चे को कहां की नागरिकता प्रदान की जाएगी ?

हमारे दिमाग में कई तरह के सवाल आते रहते हैं जिनमें से कुछ के जवाब तो मिल जाते हैं या और कुछ अबूझ ही रहते हैं।

जैसे एक सवाल है कि अगर कोई महिला उड़ते विमान में अपने बच्चे को जन्म दे दे तो उस बच्चे को किस देश की नागरिकता प्रदान की जाएगी।

आप इस सवाल का जवाब सोच पाने में अक्षम होंगे और खुद को इस सवाल का जवाब दिए बिना ही शांत कर देते होंगे।

अब हम इस सवाल के जवाब पर बात करेंगे। सबसे पहले तो आप यह बात समझ लीजिए कि भारत में यदि कोई महिला 7 महीने या फिर उससे ज्यादा समय से गर्भवती है तो वह हवाई यात्रा नहीं कर सकती।

हालांकि यदि परिस्थितियां विशेष और विपरीत हैं तब उसे हवाई यात्रा की अनुमति दी जा सकती है।

यदि कोई फ्लाइट भारत से ब्रिटेन जा रही हो तो उड़ते विमान में वह अपने बच्चे को जन्म देती हैं तो उस बच्चे की जन्म स्थान और नागरिकता कहां की मानी जाएगी।

इस तरह के मामलों में सबसे पहले यह देखा जाता है कि बच्चे का जन्म जिस समय हुआ है उस समय कौन से देश की सीमा उड़ रहा था जिस देश में लैंड करता है।

उसकी एयरपोर्ट से जन्म प्रमाण पत्र संबंधी कालजात प्राप्त कर सकते हैं। इसके अलावा बच्चे की माता-पिता की राष्ट्रीयता के आधार पर भी इसका फैसला किया जा सकता है।

क्या कहता है भारत का कानून

इस कानून को हम उदाहरण के द्वारा अच्छे से समझ सकते हैं। जैसे अगर कोई महिला बांग्लादेश से ब्रिटेन के लिए जा रही है और वह जब भारतीय सीमा में है और

वह अपने बच्चे को जन्म दे दे तो बच्चे का जन्म स्थान भारत में माना जाएगा। उस बच्चे के मां-बाप चाहे तो उसे भारत की नागरिकता दे सकते हैं।

उस बच्चे को अपनी माता-पिता की नागरिकता और भारत की नागरिकता दोनों ही दी जा सकती है।

लेकिन भारत के कानून में दो देशों की नागरिकता पर प्रतिबंध है। भारत में एकल नागरिकता का प्रावधान है।

घट चुकी है ऐसी घटना

इस तरह की यह घटना पहले घट चुकी है। यह घटना अमेरिका में घटी थी।

हुआ यह था कि एक प्लेन अमेरिका से नीदरलैंड की राजधानी एमस्टर्डम से अमेरिका को जा रहा था। तभी एक महिला ने एक बच्ची को जन्म दे दिया।

प्लेन की लैंडिंग करने के बाद मां और बच्चे दोनों को अमेरिका की अस्पताल में एडमिट कराया गया।

जब जानकारी प्राप्त हुई तो पता चला कि महिला ने अमेरिका की सीमा के अंदर अपनी बच्ची को जन्म दिया था।

इसीलिए उस बच्चे को नीदरलैंड और अमेरिका दोनों देशों की नागरिकता दी गई थी।

उड़ते विमान में पैदा होने वाले बच्चों को लेकर दुनिया के सभी देशों में अलग-अलग नियम हैं कहीं पर दोहरी नागरिकता का प्रावधान है और कहीं-2 पर इकहरी नागरिकता ही कानून में है जैसा कि भारत में होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *