अखिलेश यादव ने जिन्ना को पटेल के बराबर बताया। मचा राजनैतिक घमासान।

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने एक अजीब सा बयान देकर तहलका मचा दिया है।

उन्होंने ऐसी बात बोली है जिसे हिंदुस्तान का छोटा बच्चा भी बोलने में शर्मा जाए। उन्होंने हरदोई में जनसभा को संबोधित किया था।

इस दौरान उन्होंने महात्मा गांधी और सरदार पटेल के साथ-साथ मोहम्मद अली जिन्ना का नाम भी लिया था।

अपने बयान में अखिलेश यादव ने कहा था कि मोहम्मद अली जिन्ना ने आजादी की लड़ाई में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया था।

उन्होंने हर तरह के संघर्ष में देश का साथ दिया था। वह किसी भी परिस्थिति में संघर्ष से पीछे नहीं हटे थे।

जनसभा को संबोधित करते हुए अखिलेश यादव ने सरदार पटेल के बारे में कहा था कि सरदार पटेल को जमीन से बेहद लगाव था।

जमीन की परिस्थितियों को समझते हुए फैसला लेते थे। यही कारण था कि उन्हें देश का लौह पुरुष कहा जाता था।

अखिलेश यादव ने आगे कहा कि सरदार पटेल राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और जवाहरलाल नेहरू के साथ-साथ मोहम्मद अली जिन्ना भी एक ही संस्था में पढ़कर बैरिस्टर बने थे। बैरिस्टर बनकर उन्होंने देश को आजादी दिलाई।

उन्होंने देश की आजादी के लिए हर तरह का संघर्ष किया था। उन्हें यदि अंग्रेजों ने जेल में डाला था तो भी वहां जाने से जरा भी नहीं हिचके थे।

अखिलेश यादव ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का नाम लिए बगैर कहा कि सरदार वल्लभभाई पटेल ने देश को बांटने वाली विचारधारा पर प्रतिबंध लगाया था।

आज वही लोग देश को जाति और धर्म में बांटने का प्रयास कर रहे हैं। हमारे देश की संस्कृति हमारी सबसे बड़ी पहचान है। हम यहां पर विभिन्न जाति, समाज और धर्म के लोग मिलजुल कर रहते हैं।

अपने वक्तव्य को आगे बढ़ाते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि आज पूरा देश उनकी जयंती पर सरदार बल्लभ भाई पटेल कोई याद कर रहा है।

सरदार वल्लभ भाई पटेल ने भारत की आजादी में अपना जो योगदान दिया था उसे कभी भुलाया नहीं जा सकता।

उन्होंने देश की एकता और अखंडता बनाए रखने को जो योगदान दिया वह अपने आप में अविस्मरणीय है। अखिलेश यादव ने उत्तर प्रदेश की वर्तमान सरकार पर भी जमकर हमला बोला है।

उन्होंने कहा आज प्रदेश में किसान बहुत परेशान है। कानून व्यवस्था की धज्जियां उड़ चुकी हैं।

फैजाबाद की एक बेटी ने खुद को खत्म कर लिया और उसमें कई पुलिस अधिकारियों का नाम भी सामने आया है। इतना ही नहीं गोरखपुर में एक व्यापारी की जान ले ली गई।

अखिलेश यादव ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर तंज कसते हुए कहा कि आज मुख्यमंत्री आवास में योगी आदित्यनाथ जिस मंदिर में पूजा कर रहे हैं, वह मंदिर हमने ही बनवाया था।

अखिलेश यादव के इस बयान के बाद बीजेपी भी उन पर हमलावर हो गई है।

बीजेपी का कहना है कि अखिलेश यादव ने अपनी पढ़ाई अगर ऑस्ट्रेलिया की वजह भारत में की होती तो उन्हें भारत के इतिहास का ज्ञान होता।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *