महिमा बोलीं, ” पहले सिर्फ वर्जिन अभिनेत्रियों को ही फिल्म में लेना चाहते थे मेकर्स लेकिन अब ? “

बॉलीवुड अभिनेत्री महिमा चौधरी बीते काफी समय से फिल्मी पर्दे से बहुत दूर हैं। वे काफी लंबे समय से बॉलीवुड की फिल्में दिखाई नहीं दी हैं।

लेकिन अपने इंस्टाग्राम अकाउंट की मदद से अपने चाहने वालों के बीच अपनी उपस्थिति बनाए रखती हैं।

अपने एक इंटरव्यू के दौरान महिमा चौधरी ने बॉलीवुड के बारे में कुछ ऐसे तथ्यों का खुलासा किया है, जिनके बारे में शायद आप पहले से नहीं जानते होंगे।

महिमा चौधरी ने बताया कि आज का बॉलीवुड पहले के बॉलीवुड से काफी अलग है।

एक जमाना था जब फिल्म बनाने वाले मेकर्स केवल वर्जिन एक्ट्रेसेस को ही वरीयता देते थे। लेकिन अब ऐसा कुछ नहीं है। हमारे जमाने में समानता का बर्ताव नहीं किया जाता था,

लेकिन अब महिला कलाकारों को भी पुरुष कलाकारों के बराबर ही महत्व और सम्मान दिया जा रहा है। अभिनेत्रियों को अच्छे पेमेंट और एंडोर्समेंट भी दिए जा रहे हैं।

आज की सभी अभिनेत्रियां पहले से ज्यादा मजबूत स्थिति में दिखाई देती हैं। आज की अभिनेत्रियों की जिंदगी पहले की अपेक्षा ज्यादा अच्छी और लंबी है।

उनका फिल्मी कैरियर काफी लंबे समय तक चल सकता है। वे आज पहले से ज्यादा मजबूत स्थिति में दिखाई दे रही हैं।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि महिमा चौधरी ने बॉलीवुड में परदेस फिल्म से पदार्पण किया था।

महिमा चौधरी ने एक इंटरव्यू के दौरान खुलासा किया कि आज फिल्म इंडस्ट्री उस मुकाम पर पहुंच चुकी है जहां महिला कलाकार भी शॉट लगा रही हैं। उनको पुरुष कलाकारों की तरह ही अच्छे पैसे और विज्ञापन दिए जा रहे हैं।

अगर हम आपको पहले की हीरोइनों की तुलना करें तो आज की हीरोइन पहले से ज्यादा मजबूत स्थिति में दिखाई देती हैं। आज के समय में अभिनेत्रियों को भी हर तरह के रोल दिए जा रहे हैं।

और लोग भी उनको सहर्ष स्वीकार भी कर रहे हैं। आज की जमाने की सबसे अच्छी बात यह है कि महिला कलाकारों का उनके निजी जीवन से उनकी कैरियर पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है,

जबकि हमारे जमाने में महिला कलाकारों को अपना व्यक्तिगत जीवन भी छुपा कर रखना पड़ता था।

यदि कोई अभिनेत्री किसी को डेट कर रही है तो आपको फिल्म मेकर फिल्म से आउट कर देते थे।

उस जमाने के प्रोड्यूसर और डायरेक्टर ऐसी हीरोइनों को अपनी फिल्मों में लेना चाहते थे जिन्होंने कभी किसी लड़के को किस तक न किया हो।

महिमा चौधरी आगे बताती हैं कि यदि कोई महिला कलाकार किसी को डेट कर रहे हैं। तो लोग कहते थे कि वह तो डेट कर रही है।

यदि कोई महिला या पुरुष कलाकार शादी कर ले तब तो आपका फिल्मी कैरियर खत्म हो गया। यदि किसी कलाकार की बच्चे भी हो गए तब तो आपकी नहीं सही संभावनाएं भी खत्म हो जाती हैं।

बता दें कि महिमा चौधरी का फिल्मी कैरियर जितनी तेजी से आसमान की ऊंचाइयों पर पहुंचा था वह उतनी तेजी से जमीन के गर्त में चला गया।

महिमा चौधरी आगे बताते हुए कहती हैं कि ऐसा केवल महिला कलाकारों के साथ ही नहीं होता था बल्कि पुरुष कलाकारों के साथ भी ऐसा ही होता था।

अभिनेता अपने पर्सनल लाइफ को प्रोफेशनल लाइफ से दूर रखते थे। यदि किसी फिल्मी अभिनेता की भी शादी हो जाती थी तब भी उसका फिल्मी कैरियर तबाह हो जाता था।

यही कारण था कि बहुत सारे कलाकार अपने व्यक्तिगत जीवन अपने सार्वजनिक जीवन से दूर ही रखते थे।

महिमा बताती हैं कि मैं कई ऐसे कलाकारों के नाम जानती हूं जो शादीशुदा होकर भी खुद को अकेला ही बताया करते थे।

आज के जमाने की अभिनेत्रियों के बारे में महिमा चौधरी बताती हैं कि आज सभी अभिनेत्रियों को अलग-अलग प्रकार की रोल दिए जा रहे हैं। लेकिन पहले ऐसा नहीं था।

यदि किसी अभिनेत्री ने मां का रोल अदा कर दिया तो फिर उसको कोई और और जल्दी मिल पाने की संभावना नहीं के बराबर होती थी।

लेकिन अब महिला कलाकार भी सभी तरह के रोल निभा रही हैं और उनके एक रोल से उनका दूसरा ढूंढ कर प्रभावित नहीं होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *