प्रधानमंत्री के साथ तुड़ी-मुढ़ी शर्ट पहन कर फोटो खिंचाने वाले राकेश झुनझुनवाला की शख्सियत क्या है ?

 

शेयर मार्केट में बिग बुल के नाम से प्रसिद्ध राकेश झुनझुनवाला इन दिनों सुर्खियों में हैं। उनकी सुर्खियों में आने की 3 वजह हैं।

पहली वजह यह है कि 5 अक्टूबर को उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ एक तस्वीर खिंचाई जिसमें वे सिलबटें वाली शर्ट पहने हुए खड़े हैं।

दूसरी वजह यह है कि एक तस्वीर में भी बैठे हुए हैं जबकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खड़े हुए हैं।

और तीसरी सबसे बड़ी वजह यह है कि 11 अक्टूबर को उनकी नई नवेली एयरलाइंस को सरकार की तरफ से एनओसी मिल गया।

शेयर मार्केट में बिग बुल के नाम से प्रसिद्ध राकेश झुनझुनवाला ने साल 1985 में मात्र ₹ 5000 से स्टॉक मार्केट में निवेश करने की शुरुआत की थी।

फोर्ब्स पत्रिका में छपी खबर के अनुसार इस समय उनकी कुल संपत्ति 44000 करोड़ रुपये के आसपास है।

हम उनकी पर्सनलटी की बात करें तो वे व्हीलचेयर पर बैठकर ही डांस करते हुए नजर आएंगे।

वे कहते हैं कि मैं मछली की तरह पीता हूं जहां वे बात शराब की बात कर रहे हैं। आइए जानते हैं उनकी जिंदगी के बारे में कुछ बातें।

जिंदादिली

राकेश झुनझुनवाला एक वीडियो में कजरारे कजरारे गाने पर व्हीलचेयर पर बैठे हुए डांस करते हुए नजर आ रहे हैं।

झुनझुनवाला डायबिटीज के पेशेंट हैं। ज्यादातर समय उनके पैरों में सूजन रहती है।

यही कारण है कि वे ठीक से चल भी नहीं पाते हैं। लेकिन व्हील चेयर पर बैठे बैठे डांस करना उनक जिंदादिली को दर्शाता है।

इस वीडियो में उनकी पत्नी रेखा उनके बहुत अजीज दोस्त उत्पल और परिवार के अन्य सदस्य भी देखे जा सकते हैं।

वेफिक्री

राकेश झुनझुनवाला के बारे में बात कही जाती है कि बेफिक्र इंसान हैं। वे बहुत ज्यादा और चर्चाओं में नहीं पड़ते।

कुछ दिनों पहले उनकी एक तस्वीर सोशल मीडिया पर जमकर वायरल की जा रही है। एक तस्वीर में वे वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के साथ चप्पल पहन कर नजर आ रहे हैं।

दूसरी तस्वीर में वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ सलबटों वाली शर्ट पहने देखे रहे हैं।

एक पत्रकार ने जब उनसे संबंध में बात की तो उन्होंने उस पत्रकार को मुस्कुराते हुए जवाब दिया है कि मैंने उस शर्ट को ₹   600 देकर प्रेस कर आया था। उसके बाद भी अगर सिलबटें पड़ जाएं तो मैं क्या कर सकता हूं ? मुझे कोई दिक्कत नहीं है ?

मैं तो शार्ट्स पहनकर भी ऑफिस जा सकता हूं। इंटरव्यू में जब उनसे पूछा गया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से क्या बात हुई ?

तब उन्होंने मजाकिया लहजे में कहा कि सुहागरात में मेरी पत्नी से क्या बात हुई यह सबको बताने वाली बात है।

यदि मौजूदा संपत्ति की 10% भी होती तब भी ऐसा ही जीवन जीता

राकेश झुनझुनवाला से एक बार एक इंटरव्यू में पूछा गया है कि पिछले डेढ़ साल में आपका इनकम बिल्कुल रॉकेट की तरह बढ़ी है। इस बारे में आप क्या कहना चाहेंगे ?

तब उन्होंने बेहद सादगी भरी अंदाज में जवाब दिया कि किस को गिनना है और क्या करना है ? मुझे अपनी बैलेंस शीट किसको दिखानी है ? मेरी एक ही पार्टनर है।

वह भी मेरे व्यापार में ज्यादा इंटरेस्ट नहीं लेती है। आज मेरे पास जितनी भी संपत्ति है यदि उसका 10 परसेंट भी मेरे पास होता।

तब भी यही जिंदगी जीता। इसीलिए मैं गिनने में नहीं बल्कि काम करने में भरोसा रखता हूं।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि राकेश झुनझुनवाला अपनी कमाई का करीब 25% हिस्सा दान करते हैं।

शराब और सिगार की आदत से हैं परेशान

साल 2010 में राकेश झुनझुनवाला फाइनेंशियल एक्सप्रेस में बात की। तब उन्होंने बताया कि वह डायबिटीज के पेशेंट है।

उनसे जब उनकी शराब और सिगार की लत संबंधी बातें पूछी गईं तब उन्होंने जवाब दिया कि

अब उन्हें इसको लेकर एतिहात बरतने की आवश्यकता है। मुझे इस बात का एहसास है कि मुझे कड़े अनुशासन में रहना होगा।

मैं शराब को मछली के पानी की तरह पीता हूं। मेरे दो जुड़वा बेटे हैं और मैं चाहता हूं कि मैं उन्हें 25 साल का होता देखूं।

एक और इंटरव्यू में राकेश झुनझुनवाला ने कहा कि अब जीवन में मुझे कोई तमन्ना नहीं है। बस मैं चाहता हूं कि मेरी जो व्यक्तिगत आदत है उनमें सुधार हो जाए।

साहस बीवी की चूड़ियां तक बेचने को तैयार थे

रिस्क लेने के मामले में राकेश झुनझुनवाला का कोई जवाब नहीं। जब उन्होंने शुरुआत में स्टॉक मार्केट में इन्वेस्ट करना शुरू किया तो उन्होंने अपने भाई के क्लाइंट्स से पैसे उधार लिए ।

उसे ब्याज सहित लौटाने का वादा किया था। 1986 में झुनझुनवाला को पहली बार मुनाफा हुआ था।

उन्होंने टाटा टीम में ₹   33 की दर से खरीदे स्टॉक मार्केट पढ़ा तो उन्हें 3 महीने में ₹  140 पहुंच गया तब से लेकर आज तक अपने साहस का परिचय देते रहे हैं।

इसको एक बार उन्होंने एक इंटरव्यू दिया था और उस इंटरव्यू में उन्होंने इस बात को कहा था कि मुझे मार्केट और औरत में इंटरेस्ट है। औरत प्यार से चलती है और मार्केट दिमाग से चलता है।

मैं निवेश के लिए इतना दीवाना हूँ कि मौका पड़ने पर मैं अपनी बीवी की चूड़ियां तक बेचने को तैयार हूँ।

पांच हजार से 44 हजार करोड़ तक का सफर

झुनझुनवाला के पिताजी इनकम टैक्स ऑफिसर थे। 1985 के दौरान राकेश झुनझुनवाला एक कॉलेज स्टूडेंट थे।

इसी दौरान उन्होंने शेयर मार्केट में इन्वेस्ट करना प्रारंभ कर दिया था। उस वक्त स्टाक मार्केट केवल डेढ़ सौ प्वाइंट्स था जो अब साठ हजार पार कर चुका है।

राकेश झुनझुनवाला की सबसे ज्यादा इन्वेस्टमेंट होल्डिंग टाटा घड़ी और कंपनी पैटर्न में है।

इसके साथ-साथ उनका स्टार हेल्थ इंश्योरेंस और बायोटेक मेट्रो बैंक के साथ-साथ और बड़ी कंपनियों में राकेश झुनझुनवाला के स्टेक हैं।

इतना ही नहीं राकेश झुनझुनवाला के पास स्पाइसजेट और जेट एयरवेज में भी एक परसेंट की स्टेक है।

साल 2003 में राकेश झुनझुनवाला ने अपनी खुद की स्टेक ट्रेनिंग पर RARE इंटरप्राइजेज का प्रारंभ किया।

इस नाम का विस्तार करें तो RA यानी राकेश और RE मतलब रेखा झुनझुनवाला।

राकेश झुनझुनवाला की पत्नी रेखा झुनझुनवाला भी अपने पति की तरह ही स्टेक मार्केट में इन्वेस्ट करती हैं। उनकी कई कंपनियों में हिस्सेदारी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *