“गैर हिंदुओं का प्रवेश वर्जित है” विश्व हिंदू परिषद ने गरबा नृत्य के कारण रतलाम में लगाए पोस्टर

देश में समय दुर्गा पूजा का माहौल चल रहा है। हमारे देश में दुर्गा को मानने वाले लोग जगह-जगह पंडाल बनाकर नवरात्रि का आयोजन करते हैं।

यहां पर सजावट इतने अच्छे ढंग से की जाती है कि दूर-दूर से लोग की सजावट को देखने आते हैं।

लेकिन मध्यप्रदेश के रतलाम में सभी को मां दुर्गा के पंडाल में जाने की अनुमति नहीं है।

विश्व हिंदू परिषद की ओर से पूरे रतलाम शहर में यह पोस्टर लगाए गए हैं कि दुर्गा पंडालों में गैर हिंदुओं का प्रवेश वर्जित है।

यह बात बिल्कुल सही है की विश्व हिंदू परिषद ने दुर्गा पंडालों में गैर हिंदुओं के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया है।

यह नियम खासतौर पर गरबा के दौरान सख्ती से लागू किया जाएगा।

विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं ने पिछले साल भी कुछ ऐसी ही घटनाओं को अंजाम दिया था,

जिसमें गैर हिंदू युवकों के पंडाल में घुसने पर उनकी पिटाई भी की थी।

विश्व हिंदू परिषद का धर्म प्रचार विभाग के कार्यकर्ताओं ने इस शहर में तमाम स्थानों पर बड़े-बड़े होर्डिंग छपवा आए हैं।

विश्व हिंदू परिषद का इसके पीछे तर्क है कि इस तरह से हम बेमतलब की झगड़ों और महिलाओं के साथ होने वाली छेड़छाड़ को रोक सकते हैं।

विश्व हिंदू परिषद के धर्म प्रचार विंग के प्रभारी चंदन शर्मा ने बताया कि गैर हिंदू लोग पंडालों में आकर आई हुई महिलाओं के साथ छेड़छाड़ और बदतमीजी करते हैं।

उनके अनाप-शनाप वीडियोज् भी बनाते हैं इसीलिए हमने इस तरह के पोस्टर लगाए हैं।

जिससे कि किसी महिला को इस तरह की स्थिति का सामना ना करना पड़े।

विश्व हिंदू परिषद की प्रशासन से मांग है कि लोगों का आई कार्ड देखने के बाद ही उन्हें दुर्गा पंडाल में आने की अनुमति दें।

रतलाम में इस साल करीब 56 पंडाल लगाए गए हैं और सभी मैं इस तरह के पोस्टर छपवा गए हैं।

दुर्गा पंडाल का आयोजन कराने वाले सभी आयोजकों ने विश्व हिंदू परिषद के इस कदम को उचित ठहराया है।

वही रतलाम के एसडीएम अभिषेक गहलोत से जब इस संबंध में बातचीत की गई तो उन्होंने कहा कि हमें अभी तक इस संबंध में कोई शिकायत प्राप्त नहीं हुई है।

यदि कोई हमें इस तरह की शिकायत से अवगत कराता है तो हम निश्चित तौर पर कठोर कदम उठाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *