राजस्थान की इस हवेली में आज भी भटकती हैं अंग्रेज मेजर की आत्मा

राजस्थान को राजाओं का राज्य कहा जाता है। राजस्थान में बहुत सारे महल हैं जिनको देखने के लिए बहुत दूर-दूर से पर्यटक आते हैं।

लेकिन राजस्थान में कुछ ऐसी जगह भी हैं जिन्हें भुतहा कहा जाता है।

यहां पर कुछ जगह ऐसी ही हैं, जिनमें से भानगढ़ का किला कुलधरा गांव के नाम तो आपने सुने ही होंगे।

लेकिन कोटा का एक बृजराज भवन पैलेस है जिसको भूतिया हवेली के नाम से जाना और पहचाना जाता है।

यह हवेली अंग्रेजों के जमाने की है, लेकिन अब होटल में तब्दील कर दिया गया है। इस होटल को आज राजस्थान के बड़े होटलों में माना जाता है।

हवेली का निर्माण 1857 में किया गया था। यह हवेली चंबल नदी के तट पर है।

उस वक्त देश में जंग-ए-आजादी की लहर हर भारतीय के खून में दौड़ रही थी।

इसी बीच भारत में हिंदू और मुसलमानों में आपसी विवाद भी चरम पर था। इसी आपसी विवाद का फायदा अंग्रेजों ने उठाया।

उन दोनों के बीच झगड़े को बढ़ावा देने के उद्देश्य से अंग्रेज ऐसी हरकतें करते थे

जिससे इन दोनों के बीच में कटुता और बढ़े। लेकिन अंग्रेजों की यह नीति बहुत समय तक कामयाब नहीं हो सकी।

1857 में खबर फैल गई कि कारतूसों में सूअर के मांस की और गाय के मांस की चर्बी लगी होती है।

जब सैनिकों ने ऐसा सुना तो उन्होंने कारतूसों का इस्तेमाल करने से इंकार कर दिया और ब्रिटिश सरकार के खिलाफ विद्रोह कर दिया।

बताया जाता है कि अंग्रेज के खिलाफ विद्रोह के दौरान मेजर चार्ज बटन और उसको दो बच्चे भी इसी हवेली में रहते थे।

जब भारतीय सैनिकों ने इस हवेली पर हमला किया तो सब ने मिलकर इस मेजर को और उसके बेटों को जान से मार दिया।

बताया जाता है कि इन तीनों की आत्मा हवेली में भटक रही है। कोटा की पूर्व महारानी जी इस तरह की घटनाओं को महसूस कर चुकी हैं।

उनका दावा है कि उन्होंने भी चार्ल्स हर्टन का भूत अपने आसपास देखा है। लेकिन उन्होंने आज तक महारानी को कोई नुकसान नहीं किया है।

इस होटल में आने वाले आगंतुकों का भी यह मानना है कि इस होटल में रुकने के दौरान उन्होंने भी अजीबोगरीब आवाजें अनसुनी हैं।

आपकी जानकारी के लिए बता दें हैं कि ब्रिज भवन को कोटा स्टेट गेस्ट हाउस के नाम से जाना जाता है।

यहां के स्टाफ का भी दावा है कि कभी-कभी गैलरी में अक्सर ऐसा प्रतीत होता है जैसे कोई टहल रहा हो।

कभी-कभी रात को छत पर टहलने की आवाज आती है तो कभी होटल के स्टाफ ने महसूस किया है कि मेजर के भूत ने उन को थप्पड़ मारा है।

हालांकि इस बात की सच्चाई क्या है यह तो हम नहीं बता सकते लेकिन जो कुछ भी है वह बेहद डरावना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *