पानी की कमी के कारण हो सकते हैं ये रोग। न करें नजरअंदाज

हमारा शरीर रहस्य का खजाना है। इसमें कब कौन सी बीमारी अपना घर बना ले हमें नहीं पता लगता।

कुछ बीमारियां तो ऐसी होती हैं जो हमारी जानकारी के बाहर ही हमें अपना घर बना लेती हैं।

लेकिन कुछ बीमारियां हमारी गलतियों की वजह से हमारे शरीर में अपना घर बनाती हैं।

 

मानव को स्वस्थ और स्वस्थ जीवन जीने के लिए अच्छा वातावरण, शुद्ध पानी बेहद आवश्यक है। अक्सर देखा जाता है कि हम लोग जब पानी का कम सेवन करते है।

कुछ लोग तो पानी तो पीते हैं लेकिन बहुत कम पीते हैं। यह हमारी सेहत के लिहाज से बेहद खतरनाक है।

डॉक्टर्स सलाह देते हैं कि मौसम चाहे जो भी हो गर्मी सर्दी लेकिन प्रत्येक व्यक्ति को रोजाना करें 2 लीटर पानी जरूर पीना चाहिए।

लोग कहते हैं कि कुछ बीमारियां ऐसी होती हैं जो पानी की कमी के कारण हमारे शरीर में अपना घर बना लेती हैं।

तो चलिए बात करते हैं बीमारियों और उनके लक्षणों के बारे में, जो पानी की कमी के कारण हमारे शरीर में प्रवेश कर जाती हैं।

थकान का होना

यदि किसी व्यक्ति को बेवजह थकान का अनुभव होता है। तब यह आशंका है कि उसके शरीर में पानी की कमी है।

जब किसी इंसान के रक्त में तरल पदार्थ की कमी हो जाती है तो इससे शरीर की मांसपेशियों और अंगों पर ऑक्सीजन की सप्लाई और अन्य पोषक तत्वों की सप्लाई पहुंचाने के लिए हमारे हृदय पर ज्यादा प्रेशर होता है।

यही कारण है कि बहुत कम काम करने पर भी कभी-कभी हमें थकान का अनुभव होने लगता है।

मुंह में दुर्गंध

पानी मुंह में लार बनाने के लिए बहुत जरूरी होता है। जब यह लार बनती है तो हमारे शरीर में आने वाले वैक्टीरिया को खत्म करने में मदद करती है।

पानी की मदद से ही हमारे मसूड़े और दांत स्वस्थ और तंदुरुस्त होते हैं।

परंतु जब किसी इंसान के शरीर में पानी की कमी हो जाती है तो फिर लार की कमी हो जाती है

और फिर वैक्टीरिया सक्रिय हो जाते हैं परिणाम स्वरूप मुंह में बदबू आने लगती है।

पेशाब में कमीं

जब किडनी की कार्यशैली प्रभावित होगी तो किसका सीधा कारण यह है कि हमारे शरीर में पानी की कमी है।

कम पेशाब का आना किस बात का सबसे बड़ा उदाहरण पानी की कमी के कारण है।

पेशाब का रंग ज्यादा गहरा हो सकता है और पेशाब में बदबू भी आ सकती है।

लोग कहते हैं कि हमारे शरीर से जहरीले पदार्थ और हानिकारक बैक्टीरिया को हमारे शरीर से बाहर भगाने के लिए पानी की आवश्यकता होती है।

त्वचा में रूखापन आना

हमारी त्वचा का चमकदार सुंदर और आकर्षक लगने के लिए पानी की बेहद आवश्यकता होती है।

परंतु जब हमारे शरीर में पानी की कमी हो जाती है तो हमारी त्वचा रूखी हो जाती है।

जिस कारण शरीर की कोमलता विलुप्त हो जाती है जिस कारण हमारे चेहरे पर झुर्रियां होने लगती है।

इस आर्टिकल को तैयार करने के लिए अमर उजाला के पत्रकारों ने कई स्तरों पर परखा है।

अमर उजाला के पत्रकारों ने सभी निर्देशों का पालन किया है। इस आर्टिकल को लिखने का उद्देश समाज में जागरूकता बढ़ाना है।

अधिक जानकारी के लिए पाठकों से अनुरोध है कि वह अपने डॉक्टर से उचित परामर्श लें।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *