इन राशियों के जातक होते हैं ज्यादा भावुक , बता रही हैं टैरो कार्ड रीडर जीविका शर्मा

ईश्वर ने हर इंसान को अलग स्वभाव का बनाया है। इस बात को न केवल ज्योतिष बल्कि मनोविज्ञान भी सिद्ध करता है।

आज हम टैरो कार्ड एक्सपर्ट जीविका शर्मा से जानेंगे की किस राशि के लोग ज्यादा इमोशनल होते हैं।

कौन व्यक्ति खुशमिजाज होता है ? कौन सा चिढ़चिढ़ा है ? किस व्यक्ति के व्यक्तित्व में चुलबुलापन होता है ?

यह सभी चीजों को निर्धारित करने में राशियों का अहम भूमिका होती है। आपने बहुत से लोगों को बहुत ज्यादा इमोशनल देखा होगा।

कुछ लोग ऐसे भी होते हैं वह छोटी-छोटी बातों को लेकर बहुत ज्यादा परेशान हो जाते हैं।

वे परेशान होकर इतनी इमोशनल हो जाते हैं कि रोने लगते हैं ,जैसे कोई छोटा बच्चा रो रहा हो।

आज हम टैरो कार्ड रीडर जीविका शर्मा से बात करेंगे।उन्हें राशियों के बारे में बताया जिन राशियों के जातक बेहद इमोशनल होते हैं।

मीन राशि

मीन राशि वालों के विषय में जीविका शर्मा बताती हैं कि इस राशि के जातक दूसरों की तुलना में ज्यादा जल्दी रोने लगते हैं। इसके कारण है कि वह वह ज्यादा भावुक होते हैं।

मीन राशि वाले जातक अपनी भावनाओं पर बहुत ज्यादा समय तक काबू नहीं कर पाते हैं। मीन राशि के जातक खुद को बहुत जल्दी भावनात्मक बातों में जोड़ देते हैं।

ऐसे लोगों को बहुत ज्यादा सीरियस नहीं लिया जाता क्योंकि लोग उनके स्वभाव से बहुत जल्द लोग उनके स्वभाव से वाकिफ हो जाते हैं।

मेश राशि

जीविका के अनुसार मेष राशि के जातक छोटी-छोटी बातों पर भी चीख चीख कर रो सकते हैं।

ऐसा तब होता है जब वे जिस चीज को पाना चाहते हैं वह उनको हासिल ना हो।

कहने का मतलब यह है की मुझे अपनी पसंदीदा चीज को प्राप्त करने के लिए भावनाओं का सहारा लेते हैं।

वे अपनी हर पसंदीदा चीज के लिए बहुत ज्यादा मेहनत करते हैं लेकिन जब उन्हें इतनी मेहनत के बाद भी उनकी पसंदीदा चीज हासिल ना हो तो वे रोने लगते हैं।

ऐसा भी तब तक करते हैं जब तक उन्हें उनकी मनमाफिक चीज हासिल नहीं हो जाती।

मिथुन राशि

मिथुन राशि के जातकों के विषय में यह कहा जाता है कि वे रोना आरंभ कर देते हैं

जब उन्हें उनकी परिजन या प्रिय जन उपेक्षित करते हैं तब वे रोने से खुद को नहीं रोक पाते।

जब मिथुन राशि के जातकों को यह महसूस होता है कि उनसे कोई अपना दूरी बनाना रहा है तो उनको ऐसा प्रतीत होता है कि उनसे कुछ ऐसा है जो बताया नहीं जा रहा है।

यानी उनसे छुपाया जा रहा है तब भी बिगड़ती हुई चीजों को सामान्य करने के उद्देश्य से आंसू बहाते हैं। और कई बार उनके लिए आंसू सामने वाले को पिघला भी देते हैं।

कर्क राशि

कर्क राशि के जातकों के साथ एक बात यह है कि वे जब कोई गलती करते हैं तो उसके प्रायश्चित के लिए आंसुओं का सहारा लेते हैं।

जिस तरह होते हैं जैसे कोई बच्चा रो रहा हो।

उनको अपनी गलतियां छुपाने या फिर अपने ऊपर लगे आरोपों को हटाने के लिए आंसुओं का सहारा लेना ज्यादा आसान लगता है।

मोटे तौर पर हम कह सकते हैं कि इस राशि के जातक बहुत ज्यादा इमोशनल होते हैं।

वृश्चिक राशि

वृश्चिक राशि के विषय में जीविका शर्मा का कहना है कि इस राशि के जातक चालाक तरीके के होते हैं।

वे लोगों के सामने रो कर उनको भावनात्मक रूप से नियंत्रित करना चाहते हैं। वे लोगों को इस प्रकार से दिखाते हैं कि बहुत ज्यादा परेशान हैं।

सीधे तौर पर कहना यह है कि ये लोग सभी लोगों को बरगलाने का प्रयास करते हैं।

वे तब भी रोते हैं जब उनके पास कोई नहीं होता है। वृश्चिक राशि वाले जातकों को अकेलेपन से बहुत ज्यादा डर लगता है।

ऊपर किए गए राशियों के जातकों के विषय में जो कुछ भी कहा गया है वह केवल उनकी राशियों के आधार पर कहा गया है।

कुछ जातकों का स्वभाव इसके विपरीत भी हो सकता है।

आपको हमारी यह जानकारी कैसी लगी हमें यह जरूर बताइएगा और इससे भी अच्छे और अच्छी जानकारी के लिए हमारे साथ जुड़े रहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *