पीरियड्स से पहले संबंध स्थापित करने पर दर्द से छुटकारा पाने के उपाय

महिला और पुरुष के बीच शारीरिक संबंध बनना एक आम बात है। एक दूसरे को शारीरिक सुख देने की व्यवस्था है।

सामान्यतः महिलाओं को संबंध बनाते समय कभी-कभी दर्द का अनुभव होता है या फिर जलन महसूस होती है।

जब उनका मासिक धर्म आने वाला होता है तो कुछ महिलाओं को संबंध बनाने से पहले जलन का अनुभव होना एक समस्या है।

इस समस्या से जूझने के लिए किस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको इससे बचने के उपाय बताएंगे।

महिला के गुप्तांग में जलन होना

जब महिलाओं को पीरियड्स आते हैं तब उनके जननांगों के आसपास हल्का दर्द होता है और यदि इस दौरान महिलाएं अपने साथी के साथ संबंध स्थापित नहीं भी करते हैं।

तब भी उनके लिए तरह की समस्या का सामना करना पड़ सकता है। लेकिन जब महिलाएं संबंध स्थापित करती हैं तब यह दर्द बढ़ जाता है।

इस दर्द से छुटकारा पाने का एक तरीका यह है कि संबंध बनाते समय आप अपने साथी के कहें कि संबंध बनाते समय आप सहजता रखें। जितनी सहजता आप रखेंगे उतना ही दर्द कम होगा।

गुप्तांगों में सूखापन

महिला को अपने गुप्तांग में सूखापन और कभी कभी अधिक नमी महिलाओं के लिए सामान्य प्रक्रिया है। ऐसा पीरियड्स से पहले भी हो सकता है और बाद में भी।

यदि कोई महिला पीरियड के दौरान संबंध बनाती है तो हो सकता है कि उन्हें दर्द हो।

ऐसी स्थिति में महिला को अपने पार्टनर से खुलकर बात करनी चाहिए कि वह आसानी से और सुलभता से संबंध बनाए।

संबंध बनाने के दौरान महिलाएं जितनी उत्तेजित होगी जननांगों का गीलापन बढ़ता जाएगा। जब आप संबंध बनाए तब आप की जननांग पूरी तरह गीला होना चाहिए।

लुब्रिकेंट का इस्तेमाल करें

कभी-कभी ऐसा होता है कि किसी महिला को बहुत नमीं होती है। ऐसे में अगर वह चाहे तो लुब्रिकेंट की सहायता ले सकते हैं।

जब जननांग में सूखापन होता है तब लुब्रिकेंट का इस्तेमाल जरूर करना चाहिए।

इसके बाद संबंध आसानी से हो जाते हैं। जब आप अपने साथी के साथ संबंध बना रही होते हैं।

तब वहां पर चिकनाई बेहद आवश्यक है। संबंध बनाने के दौरान महिला के गुप्तांग में प्राकृतिक रूप से ही काफी चिकनाई हो जाती है।

लेकिन जब किसी महिला के पीरियड चल रहे होते हैं उससे पहले गुप्तांग में सूखापन होना एक आम बात है।

संबंध बनाने के दौरान इस्तेमाल किए जाने वाले लुब्रिकेंट की बारे में सबसे अच्छी बात तो यह है कि यह कहीं भी इस्तेमाल में लाया जा सकता है। इससे किसी प्रकार की कोई हानि नहीं होती है।

मासिक धर्म का रखें खास ख्याल

महिलाओं के लिए सलाह दी जाती है कि वह अपने पीरियड सरकुलेशन पर विशेष नजर रखें।

इससे आपको इस समझने में सहायता मिलेगी कि आप कब संबंध स्थापित करने से बचना चाहिए और कब नहीं।

यदि आप अपने पीरियड से पहले संबंध बनाना चाहती हैं तब आपको अपने मासिक चक्र पर विशेष ध्यान रखना होगा कि आपको परेशानी कब होती है।

यदि आप इस चीज को विशेष ध्यान रखती हैं तब आप को समझने में आसानी हो जाएगी कि कब संबंध बनाने और कब नहीं।

पार्टनर के साथ करें चर्चा

आपको चाहिए कि यदि आप कभी संबंध स्थापित करने के दौरान सहज नहीं हो पाती हैं। तब आपको चाहिए आप इस संबंध में अपने साथी से खुलकर बात करें।

आपको अपनी पीड़ा, अपने दर्द को छुपाने से उसका समाधान नहीं हो सकता।

आपको चाहिए कि दोनों आपस में बैठकर इस बात पर चर्चा करें कि किस तरीके से संबंध स्थापित करने से आसानी होगी।

ऊपर दी गई सारी जानकारी सामान्य ज्ञान के लिए है कोई भी कदम उठाने से पहले एक बार विशेषगण से एक बार सलाह जरूर लें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *